घूसखोरी के अलग-अलग मामलों में कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम के तत्‍कालीन समाजिक सुरक्षा अधिकारी तथा भारतीय खाद्य निगम के तत्‍कालीन प्रबन्‍धक को चार वर्ष की कठोर कारावास

प्रेस रिलीज
नई दिल्ली, 03.07.2017

सीबीआई मामलों के प्रमुख विशेष न्‍यायाधीश, विशाखापतनम्  ने घूसखोरी के मामले में कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम, क्षेत्रीय कार्यालय, गुनाडाला, बिजयवाड़ा, जिला कृष्‍णा के तत्‍कालीन सामाजिक सुरक्षा अधिकारी व कार्यक्रम कार्यान्‍वयन एवं निरीक्षण नियंत्रक श्री मोहम्‍मद खा़जा ख़दीरूद्दीन को दोषी ठहराया एवं उन्‍हें 40,000 रू. जुर्माने सहित 04 वर्ष की कठोर कारावास की सजा सुनाई।

जॉंच से प्रमाणित हुआ कि आरोपी ने प्रशिक्षुओं को बीमा के तहत न लाने ; उनके विरूद्ध जुर्माना न लगाने तथा शिकायतकर्ता फर्म से सम्‍बन्धित मामले को बन्‍द करने के लिए शिकायतकर्ता से 25,000 रू. घूस की मॉंग की। आरोपी को शिकायतकर्ता से 25,000 रू. की घूस की मॉंग एवं स्‍वीकार करने के दौरान रंगे हाथ पकड़ा।

एक अन्‍य मामले में, सीबीआई मामलों के प्रमुख विशेष न्‍यायाधीश, हैदराबाद ने भारतीय खाद्य निगम (एफ.सी.आई.), नलगोण्‍डा, जिला कार्यालय के तत्‍कालीन प्रबन्‍धक श्री टी. भावा सिंह को घूसखोरी के मामले में दोषी ठहराया एवं उन्‍हें 20,000 रू. जुर्माने सहित 04 वर्ष की कठोर कारावास की सजा सुनाई।

भारतीय खाद्य निगम, नलगोण्‍डा, जिला कार्यालय के प्रबन्‍धक श्री टी. भावा सिंह के विरूद्ध दिनांक 21.09.2016 को यह मामला दर्ज हुआ जिसमें शिकायतकर्ता के पानी आपूर्ति के बिलों को पास करने के लिए शिकायतकर्ता से 15,000 रू. की घूस की मॉंग का आरोप है। सीबीआई ने जाल बिछाया एवं आरोपी को शिकायतकर्ता से 7500 रू. की घूस की मॉंग व स्‍वीकार करने के दौरान रंगे हाथ पकड़ा।

विचारण अदालत ने आरोपियों को कसूरवार पाया एवं उन्‍हें दोषी ठहराया।

********