सीबीआई ने एक लाख रू. की घूस स्‍वीकार करने पर एक सदस्‍य सचिव (आई.एफ.एस. अधिकारी) को गिरफ्तार किया

प्रेस रिलीज
नई दिल्ली, 18.07.2017

सीबीआई ने एक लाख रू. की घूसखोरी मामले में एक सदस्‍य सचिव (आई.एफ.एस. अधिकारी), चण्‍डीगढ़ प्रदूषण नियंत्रण समिति को गिरफ्तार किया।

प्राइवेट फर्म के मालिक से प्राप्‍त शिकायत के आधार पर सदस्‍य सचिव, चण्‍डीगढ़ प्रदूषण नियंत्रण समिति के विरूद्ध भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम, 1988 की धारा 7 के तहत दिनांक 17.07.2017 को मामला दर्ज हुआ। ऐसा आरोप था कि पूर्व में दिनांक 06.12.2016 को शिकायतकर्ता को जारी सहमति को वापस लेने के सन्‍दर्भ में उक्‍त लोक सेवक द्वारा श्किायतकर्ता को जारी कारण बताओ नोटिस जारी किया/ भेजा गया था। उक्‍त कारण बताओ नोटिस प्राप्‍त करने के पश्‍चात, शिकायतकर्ता, सदस्‍य सचिव से उनका वक्‍तव्‍य जानने के लिए कई बार मिला लेकिन उक्‍त लोक सेवक ने उन्‍हे ठीक तरीके से नही सुना। ऐसा भी आरोप था कि शिकायतकर्ता तीन अन्‍य व्‍यक्तियों के साथ उसी तरह के मामले में, उक्‍त कार्य के लिए सदस्‍य सचिव से मिला तथा मुलाकात के दौरान, उक्‍त लोक सेवक ने कोई भी विपरीत कार्यवाही न करने के एवज में प्रत्‍येक से 50,000 रू. की घूस की मॉंग की। हालॉंकि, तत्पश्‍चात, कथित घूस राशि प्रत्‍येक के लिए 25,000/- रू. घटा दी गई अर्थात शिकायतकर्ता जिनसे सदस्‍य सचिव द्वारा उक्‍त घूस राशि देने को कहा गया, सहित चार व्‍यापारियों से कुल एक लाख रू. की मॉंग की।

सीबीआई ने जाल बिछाया एवं एक लाख रू. की घूस की मॉंग व स्‍वीकार करने के दौरान आरोपी को रंगे हाथ पकड़ा। आरोपी के चण्‍डीगढ़ स्थित आवास पर तलाशी की गई। जिससे दो लाख रू. (लगभग) का नकद एवं सम्‍पत्तियों तथा बैंक खातों से सम्‍बन्धित कुछ दस्‍तावेज बरामद हुए।

गिरफ्तार आरोपी को आज सीबीआई मामलो के विशेष न्‍यायाधीश, चण्‍डीगढ़ की अदालत में पेश किया जा रहा है।

********