सीबीआई ने कथित घूसखोरी में एस.डी.एम. (पूर्व), यू.टी. तथा दो अन्‍य व्‍यक्तियों को गिरफ्तार किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 06.08.2017

सीबीआई ने कथित घूसखोरी में एस.डी.एम. (पूर्व), यू.टी., चण्‍डीगढ़ ; उनके पति तथा प्राइवेट व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया।

शिकायत के आधार पर एक प्राइवेट व्‍यक्ति के विरूद्ध भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम, 1988 की धारा 8 के तहत मामला दर्ज हुआ जिसमें आरोप था कि शिकायतकर्ता एवं उसके भाई के मध्‍य सम्‍पत्ति का विवाद था तथा उक्‍त मामला एस.डी.एम. (पूर्व), यू.टी., चण्‍डीगढ़ की अदालत में सुनवाई के लिए सूचीवद्व था। उक्‍त सम्‍पत्ति विवाद पर एस.डी.एम. ने दिनांक 03.08.2017 को कथित रूप से निर्णय दिया जिसमें शिकातकर्ता को सुने बिना ही विवादित सम्‍पत्ति को मोहर लगा कर बन्‍द करने का निर्देश दिया तथा सेक्‍टर-26, ग्रेन मार्केट, चण्‍डीगढ़ स्थित उक्‍त सम्‍पत्ति को पुलिस के द्वारा उसी दिन मोहर लगाकर बन्‍द कर दिया गया। ऐसा आगे आरोप था कि शिकायतकर्ता ने प्राइवेट व्‍यक्ति से मामले के सम्‍बन्‍ध में बातचीत की जो उन्‍हें एस.डी.एम. के कार्यालय में ले गया। ऐसा भी आरोप था कि प्राइवेट व्‍यक्ति ने शिकायतकर्ता को बताया कि एस.डी.एम. अपना निर्णय वापस ले लेगी यदि शिकायतकर्ता उन्‍हे पॉंच लाख रू. घूस दे तथा आगे की बातचीत में, घूस राशि घटा कर दो लाख कर दी गई।

सीबीआई ने जाल बिछाया एवं पहली किश्‍त के तौर पर 75,000 रू. कथित घूस की मॉग व स्‍वीकार करने के दौरान प्राइवेट व्‍यक्ति एवं एस.डी.एम. को गिरफ्तार किया। आरोपी अधिकारी के पति को भी गिरफ्तार किया गया क्‍योंकि 50,000 रू. की घूस राशि उसके पास से बरामद हुई तथा 25,000 रू. की घूस राशि प्राइवेट व्‍यक्ति के पास से बरामद की गई।

चण्‍डीगढ़ स्थित आरोपी के परसिर में तलाशी की गई जिसमें दो लाख रू. (लगभग) का नकद, बैंक लॉकर की चाबियाँ एवं कुछ बैंक खातों से सम्‍बन्धित दस्‍तावेज बरामद हुए।  

गिरफ्तार आरोपियों को आज चण्‍डीगढ़ की नमित अदालत में पेश किया जायेगा।

 

 

  

********