सीबीआई ने तथाकथित गैर-अनुपातिक सम्‍पत्तियों को रखने पर दिल्‍ली सरकार के एक मंत्री व अन्‍यों के विरूद्ध मामला दर्ज किया एवं तलाशी ली

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 25.08.2017

सीबीआई ने भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम,1988 की धारा 13(2) के साथ पठित धारा 13(1) (ई) एवं भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 109 के तहत दिल्‍ली सरकार के मंत्री ; उनकी पत्‍नी एवं उनके चार सहयोगियों के विरूद्ध मामला दर्ज किया। ऐसा आरोप लगाया गया है कि दिल्‍ली सरकार के उक्‍त मंत्री ने लोक सेवक के तौर पर कार्य करते हुए दिनांक 14.02.2015 से 31.05.2017 के दौरान अपने आय के ज्ञात स्रोतों से 1.62 करोड़ रू. (लगभग) तक की गैर अनुपातिक सम्‍पत्ति एकत्र की। उनकी पत्‍नी एवं सहयोगियों ने उक्‍त अपराध को करने में उकसाया।

दिल्‍ली स्थित आरोपी के आवासीय एवं कम्‍पनी के कार्यालीय परिसरों सहित चार स्‍थानों पर आज तलाशी की जा रही है। अब तक, इस तलाशी में कुछ आपत्तिजनक दस्‍तावेज बरामद हुए हैं।

पूर्व में, सीबीआई ने उक्‍त मंत्री के विरूद्ध अप्रैल, 2017 में प्राथमिक जॉंच दर्ज की। जॉंच पड़ताल के दौरान, ऐसा पाया गया कि दिल्‍ली सरकार में लोक सेवक के तौर पर कार्य करते हुए मंत्री एवं उसके सहायकों ने दिल्‍ली स्थित मुखौटा कम्‍पनियों के माध्‍यम से वर्ष 2015-16 के दौरान कथित रूप से 4.63 करोड़ रू. (लगभग) के काले धन को वैध बनाने में शामिल रहे। इसके अतिरिक्‍त, लोकसेवक बनने के पूर्व, वह कथित रूप से नई दिल्‍ली में ही स्थित उपर्युक्‍त उक्‍त कम्‍पनियों के साथ ही साथ अन्‍य कम्‍पनी के माध्‍यम से वर्ष 2010-2012 के दौरान 11.78 करोड़ रू. (लगभग) के काले धन को वैध बनाने में शामिल थे।

ऐसा भी आरोप था कि मंत्री ने या तो इन कम्‍पनियों के निदेशकों में एक निदेशक होने के रूप में अथवा अपने नाम या अपने पारिवारिक सदस्‍यों/ अन्‍यों के नाम पर इन कम्‍पनियों की एक तिहाई अंशधारिता के स्‍वामित्‍व के द्वारा इन कम्‍पनियों पर नियंत्रण रखा। यद्यपि, उन्‍होने चुनाव लड़ने के पूर्व वर्ष 2013 में 03 कम्‍पनियों के निदेशक पद से त्‍याग पत्र दे दिया था, हालॉंकि, इन कम्‍पनियों में उनके निवेश कथित रूप से ज़ारी थे। ऐसा आगे आरोप था कि उक्‍त कम्‍पनियों के पास कोई व्‍यापार नही था एवं ये मुखौटा कम्‍पनियाँ थी और कोलकाता स्थित मुखौटा कम्‍पनियों के साथ मिलीभगत में सामान्‍य अंशधारिताओं (Equity Shares) में निवेशों के रूप में धन खपाने (Parking Money) के लिए प्रयोग करती थी।

आगे की जॉंच जारी है।   

********