सी.बी.आई. ने व्यापम के छः मामलों में संलिप्त एक फरार मध्यस्थ को गिरफ्तार किया ।

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 12.09.2017

सी.बी.आई. ने व्यापम के छः मामलों यथा वन रक्षक भर्ती परीक्षा-2013, खाद्य एवं मापन भर्ती परीक्षा-2012, पी.एम.टी.-2012, पी.एम.टी.-2013, पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा-2012 तथा मध्य प्रदेश दुग्ध संघ सहकारी निगम भर्ती परीक्षा-2013 में कथित रूप से संलिप्त एक मध्यस्थ व्यक्ति (प्राइवेट व्यक्ति) को गिरफ्तार किया ।

उक्त आरोपी को कथित रूप से कुछ व्यापम कर्मियों एवं अन्यों के साथ षडयंत्र में ओ.एम. आर. उत्तर पुस्तिकाओं/परिणामों में छेड़छाड़ के माध्यम से उम्मीदवारों के अवैध चयन से संबंधित छः मामलों में मध्यस्थ के तौर पर चिन्हिंत किया गया था । वह कथित रूप से ठगों, जो कि परिणाम/ओ.एम.आर. उत्तर पुस्तिकाओं/अनुक्रमांकों आदि में छेड़छाड़ के द्वारा व्यापम कर्मियों के साथ मिलीभगत में उम्मीदवारों को चयनित करवाता था, के लिए व्यापम द्वारा आयोजित परीक्षाओं के माध्यम से अवैध चयन हेतु विभिन्न उम्मीदवारों/उच्च अंक पाने वालों (Scorers) की व्यवस्था करता था ।

सी.बी.आई. मामलों के विशेष न्यायाधीश, भोपाल ने आरोपी के संदर्भ में गिरफ्तारी वारंट जारी किया क्योंकि वह विशेष कार्य दल द्वारा की गई जांच के साथ ही साथ सी.बी.आई. द्वारा जांच को अपने हाथों में लेने के बाद भी फरार था, सी.बी.आई. ने विभिन्न स्थानों पर उसका पता लगाने के लिए जोरदार प्रयास किया । सी.बी.आई. द्वारा बनाए गए निरंतर दबाव के कारण, वह समर्पण को मजबूर हुआ ।

उक्त आरोपी को आज नामित अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा ।

सी.बी.आई. ने जनहित याचिका (सिविल) संख्या 417/2015 में माननीय सर्वोच्च न्यायालय के दिनांक 09.07.15 के आदेश के अनुपालन में व्यापम से संबंधित मामलों की जांच को अपने हाथों में लिया ।

 

 

 

  

********