सरकारी खजाने को भारी हानि पहुँचाने पर प्राइवेट फर्म के तत्कालीन प्रबन्‍ध निदेशक एवं निदेशक की तीन वर्ष का कठोर कारावास

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 10.10.2017

सीबीआई मामलों के विशेष दण्‍डाधिकारी, इन्‍दौर (मध्‍य प्रदेश) ने मैसर्स हिम टेक्‍सास इण्‍डस्‍ट्रीज लिमिटेड, भोपाल के तत्कालीन प्रबन्‍ध निदेशक श्री बी.एस. वर्मा एवं तत्‍कालीन निदेशक श्रीमति ब्‍लूजम सिंह को दोषी ठहराया एवं प्रत्‍येक पर 3,000/- रू. के जुर्माने सहित तीन वर्ष की कठोर कारावास की सजा सुनाई।

सीबीआई ने हिम टेक्‍सास इण्‍डस्‍ट्रीज लिमिटेड, भोपाल के प्रबन्‍ध निदेशक श्री ब्रजेन्‍द्र सिंह वर्मा ; पैनल अधिवक्‍ता ; स्‍टेट बैंक ऑफ इन्‍दौर, भोपाल के तत्‍कालीन शाखा प्रबन्‍धक एवं अन्‍य अज्ञात व्‍यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी, 419, 467, 468 तथा 471 के तहत दिनांक 11.03.2005 को मामला दर्ज किया। ऐसा आरोप था कि वर्ष 2003-2004 के दौरान, हिम टेक्‍सास इण्‍डस्‍ट्रीज लिमिटेड, भोपाल के प्रबन्‍ध निदेशक श्री बी.एस. वर्मा ने पैनल अधिवक्‍ता एवं स्‍टेट बैंक ऑफ इन्‍दौर के तत्‍कालीन शाखा प्रबन्‍धक के साथ मिलकर आपराधिक षड़यंत्र किया तथा स्‍टेट बैंक ऑफ इन्‍दौर, एम.पी. नगर शाखा, भोपाल से झूठे व जाली समानान्‍तर प्रतिभूतियों के आधार पर कपटपूर्ण तरीके से 3,63,42,000 रू. की क्रेडिट सुविधाऍं प्राप्‍त कर ली और इस प्रकार बैंक को हानि हुई।

जॉंचके पूर्ण होने के पश्‍चात, विशेष न्‍यायिक दण्‍डाधिकारी, इन्‍दौर के समक्ष दिनांक 31.07.2007 को भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी के साथ पठित धारा 419, 420, 467, 468 एवं 471 के तहत आरोपी व्‍यक्तियों के विरूद्ध आरोप पत्र दायर हुआ। विचारण के दौरान दो व्‍यक्तियों की मृत्‍यु हो गई और पैनल अधिवक्‍ता को अदालत के द्वारा बरी किया गया।

********