सीबीआई ने एक समाजिक संस्‍था के मद्रास मुख्‍यालय पर हुए बम विस्‍फोट के सम्‍बन्‍ध में फरार आरोपी को गिरफ्तार किया

 

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 05.01.2018

सीबीआई ने एक समाजिक संस्‍था के मद्रास मुख्‍यालय पर हुए बम विस्‍फोट के सम्‍बन्‍ध में फरार आरोपी को आज गिरफ्तार किया। आरोपी 24 वर्ष से फरार चल रहा था।

सीबीआई ने तमिलनाडु सरकार के निवेदन पर मामला दर्ज किया एवं राज्‍य पुलिस से मामले की जॉंच को अपने हाथों में लिया जो कि पूर्व में चेटपेट पुलिस स्‍टेशन में दर्ज था एवं बाद में सीबी-सीआईडी, चेन्‍नई को हस्‍तांतरित कर दिया गया था। दिनांक 08.08.1993 को अपराह्न लगभग 1.45 बजे यह घटना घटी जब एन.वी. नायडू स्‍ट्रीट, चेटपेट, मद्रास स्थित एक सामाजिक संस्‍था के राज्‍य मुख्‍यालय के भवन में एक शक्तिशाली बम विस्‍फोट हुआ जिसके परिणाण स्‍वरूप भवन को बड़े पैमाने पर नुकसान के साथ 11 व्‍यक्तियों की मृत्‍यु हुई और 07अन्‍य घायल हुए।

जॉंच की समाप्ति पर, सीबीआई ने भारतीय दण्ड संहिता की धारा 120-बी के साथ पठित धारा 302, 324, 326, 419, 436, 201, 153-ए, 109 व 34, विस्‍फोट अधिनियम की धारा 9-बी(1)(बी), विस्‍फोटक पदार्थ अधिनियम की धारा 3, 4, 5 व 6 एवं टाडा (पी.) अधिनियम, 1987 की धारा 3(1), 3(2), 3(3) एवं 3(4) की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हुआ। उक्‍त फरार व्‍यक्ति, जो कि आतंकी हमले के लिए विस्‍फोटक पदार्थो की व्‍यवस्‍था करने एवं घटना में शामिल प्रमुख आरोपी के लिए विभिन्‍न स्‍थानों पर ठिकानों की व्‍यवस्‍था करने में सहयोगी था, जॉंच की शुरूवात से ही फरार था। चूकि, गहन प्रयास के बाद भी उसका पता नही चल सका, इसलिए चेन्‍नई की टाडा अदालत ने दिनांक 05.01.1994 को उसको फरार अपराधी घोषित किया। दिनांक 21.06.2007 को, टाडा अदालत-।।, चेन्‍नई के विशेष न्‍यायाधीश ने शेष 11 आरोपी व्‍यक्तियों के विरूद्ध सजा सुनाई व 04 व्‍यक्तियों को बरी किया और दो आरोपी व्‍यक्तियों, जिनकी मृत्‍यु हो गई थी, के विरूद्ध आरोप हटा लिया। फरार आरोपी के विरूद्ध विचारण लम्बित थी।

गिरफ्तार आरोपी को चेन्‍नई की नामित अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा।

 

 

********