सीबीआई ने विमुद्रीकृत मुद्रा नोटो को कथित रूप से बदलने से सम्‍बन्धित मामले की जारी जॉंच में 32 स्थानों पर तलाशी ली

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 18.01.2018

सीबीआई ने विमुद्रीकृत मुद्रा नोटो को कथित रूप से बदलने से सम्बंधित मामले की जारी जॉंच में महाराष्ट्र स्तिथ सहकारी बैंक लिमिटेड के प्रशासनिक कार्यालय एवं १७ शाखाओॉं और पुणे, बारामती तथा लोनावला (महाराष्ट्र) स्तिथ आरोपी व्यक्तियों के आवासीय परिसरों सहित 32 स्थानों पर तलाशी ली। तलाशी के दौरान बरामद आपत्तिजनक दस्तावेजों की जॉंच पड़ताल की जा रही है।

सीबीआई ने भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी, 420, 471, 477-ए तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम , 1988 की धारा 13(2) के साथ पठित धारा 13(1)(डी) के तहत सहकारी बैंक लिमिटेड , पुणे के नौ अधिकारीयों / कर्मियों तथा अन्यों के विदिरूद्ध मामला दर्ज किया । ऐसा आरोप था की दिनांक 08.11.2016 को भारत सरकार के द्वारा विमुद्रीकरण की घोषणा के पश्चात, आरोपी अधिकारीयों / कर्मियों ने आपसी षड़यन्त्र में 40 लाख रू. (लगभग) के रू. 1000 एवं रू. 500 मूल्य वर्ग के विमुद्रीकृत सामान्य मुद्रा नोटो को बराबर धनराशि के 100 रू. एवं 50 रू. की मुद्रा नोटो जिन्हें उक्त सहकारी बैंक लिमिटेड की विभिन्न शाखाओॉं से एकत्र किया था , से बदल दिया। ऐसा भी आरोप था की बैंकिंग नियमों व विनियमनों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन में विमुद्रीकृत मुद्रा को बदलने की सुविधा प्रदान करने के लिए प्रशासनिक कार्यालय एवं बैंक की शाखाओं की वास्तविक स्माल कैश बुक्स (कैश समरी बुक्स ) को हेरफेर वाली नै स्माल कैश बुक्स से बदल दिया गया जिसमें १००० रु एवं 500 रु की सामान्य मुद्रा नोटों के मूल्यवर्ग और 100ru व 50 रु की मूल्य वर्ग के विभिन्न मूल्य वर्गों के सन्दर्भ में झूठी प्रविष्टियां (Entries) की गई थी।

आगे की जांच जारी है।

********