गैर-अनुपातिक सम्‍पत्ति के मामले में आयकर विभाग के तत्‍कालीन निरीक्षक को पाँच लाख रू. जुर्माने सहित तीन वर्ष की कारावास

 

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 19.01.2018

सीबीआई मामलों के विशेष न्यायाधीश, तीस हजारी न्‍यायालय, दिल्‍ली ने गैर-अनुपातिक सम्‍पत्तियों के मामले में श्रीमति सावित्री सिंह, तत्‍कालीन निरीक्षक, सर्वे यूनिट-। आयकर विभाग, नई दिल्‍ली को 05 लाख रू. के जुर्माने सहित 03 वर्ष की साधारण कारावास की सजा सुनाई। इसके अतिरिक्‍त अदालत ने 20 लाख रू. (लगभग) मूल्‍य की सम्‍पत्ति को दण्‍ड के तौर पर सम्‍बद्ध करने का भी आदेश दिया।
  सीबीआई ने तत्‍कालीन महाप्रबन्‍धक (आई.ए.एस. अधिकारी), डी.एम.एस., नई दिल्‍ली तथा उनकी पत्‍नी  श्री‍मति सावित्री देवी, तत्‍कालीन निरीक्षक, सर्वे यूनिट-।, उप-निदेशक (जॉंच) के कार्यालय, आयकर विभाग, दिल्‍ली में कार्यरत के विरूद्ध दो अलग-अलग मामले दर्ज किए। ऐसा आरोप था कि तत्‍कालीन महाप्रबन्‍धक, डी.एम.एस., नई दिल्‍ली (वर्तमान में मृतक), अपनी पत्‍नी के साथ षड़यंत्र में शामिल होते हुए दिनांक 01.02.1980 से 25.09.1997 के दौरान 53,23,408 रू. की गैर अनुपातिक सम्‍पत्ति एकत्र की। जॉंच की समाप्ति पर, दिनांक 28.05.1998 को सीबीआई मामलों के विशेष न्यायाधीश, तीस हजारी कोर्ट, दिल्‍ली में दोनो आरोपियों के विरूद्ध भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम,1988 की धारा 13(2) के साथ पठित धारा 13(1)(ई) के तहत आरोप पत्र दायर हुआ। दिनांक 25.09.2005 को आरोप तय किए गए। तत्‍कालीन महाप्रबन्‍धक, डी.एम.एस., नई दिल्‍ली की मृत्‍यु वर्ष 2010 में हो गई एवं उनके विरूद्ध मामला हटा लिया गया।

विचारण अदालत ने आरोपी को कसूरवार पाया व उन्‍हें दोषी ठहराया।

 

********